National

कोविड मामले में भारत ने यूएन को चेताया 

भारत उन देशों में से एक है जिन्होंने कोरोना टीको की समान पहुंच की राजनीतिक घोषणा का समर्थन किया था
कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ जंग में वैक्सीन के असमान वितरण को लेकर भारत ने संयुक्त राष्ट्रसंघ को चेतावनी दी है कि यदि वितरण में असमानता बनी रही तो इस महामारी से जंग नहीं जीती जा सकेगी। टीकों की पहुंच में जो असमानता है वह गरीब देशों को सबसे ज्यादा प्रभावित करेगी। उन्होंने बताया कि हमने जितने टीके अपने देश में लोगों को लगाए हैं उससे ज्यादा टीकों की सप्लाई विदेशों में की है। उल्लेखनीय है कि भारत उन देशों में से एक है जिन्होंने कोरोना टीको की समान पहुंच की राजनीतिक घोषणा का समर्थन किया था। इनको 180 से अधिक संयुक्त राष्ट्र के सदस्य देशों को समर्थन हासिल हुआ था। संयुक्त राष्ट्र में भारत के उप-स्थायी प्रतिनिधि के नागराज नायडू ने शुक्रवार को महासभा की अनौपचारिक बैठक में कहा कि कोरोना महामारी लगातार बनी हुई है। वैक्सीन की चुनौती भले ही खत्म हो गई हो लेकिन हम अब टीकों की उपलब्धता, पहुंच, सामर्थ्य और वितरण सुनिश्चित करने जैसी दिक्कतों का सामना कर रहे हैं। (ईएमएस)

Featured